[BEST & LATEST] Baat Nahi Karne Ki Shayari

Baat Nahi Karne Ki Shayari, Baat Nahi karne Ki Shayari Image, Baat Nahi Karne Ki Shayari in Hindi, Aap Baat Kyu Nahi Karte Shayari, Pyar Baat Nahi Karne Ki Ahayari

Baat Nahi Karne Ki Shayari: हेल्लो Friends अगर आप का भी कोई Boyfriend/Girlfriend/Sweet Heart है, और आप की उनसे बात नही हो पा रही है, और आप उन्हे ये बात शायरी के माध्यम से महसूस कराना चाहते हैं, तो हम Baat Nahi Karne Ki Shayari (बात नहीं करने की शायरी) की Help से आपकी ये ख्वाहिश पूरी करने की कोशिश करेंगे, और उम्मीद करते है की आप ये Baat Nahi Karne Ki Shayari का ताजा संग्रह जरूर पसन्द करेंगे। आगे पढ़े : Hurt दर्द भरी शायरी | Painful Shayari In Hindi

Baat Nahi Karne Ki Shayari

Baat Nahi Karne Ki Shayari-बात नहीं करने की शायरी

 यह भी पढ़े : Sorry Shayari | Sorry Shayari for Friends - Sorry Shayari Images

दिल में आप हो और कोई खास कैसे होगा;
यादों में आपके सिवा कोई पास कैसे होगा;
हिचकियॉं कहती हैं आप याद करते हो;
पर बोलोगे नहीं तो मुझे एहसास कैसे होगा।

call करू तो उठती नहीं
wait करू तो आते नहीं,
jokes बताये तो मुस्कुराते नहीं,
क्या इतनी नफरत है मुझसे।

बात करने का मजा तो
उन लोगों के साथ आता है,
जिनके साथ बोलने से पहले
कुछ सोचना न पड़ें!

कभी किसीसे बात करने की आदत मत डालना,
क्यों की अगर वो बात करना बंद कर दे तो,
दुबारा जीना मुश्किल हो जाता है यार।

दिल का हाल बताना नहीं आता,
किसी को ऐसे तड़पना नहीं आता,
सुनना चाहते है आपके आवाज़,
मगर बात करने का बहाना नहीं आता

Baat Nahi Karne Ki Shayari

जब बात नही करनी तो कॉल क्यू मिलाया,
यू दिल मे आकर दिल तोड़ना ही था तो,
पहले ही कह देती मै तुम्हे पत्थर दे देता,
ताकि मुझे इतना दर्द नही होता

हर बार दिल मेरा हार जाता है तेरे इश्क़ के आगे,
पर अगर इश्क़ ही है तो तुम हार जीत क्यू मानते हो,
तुमसे रूठ्ने का हक़ भी नही मुझे, तुम मनाते जो नही,
तुमसे रूठा ही हू, ये बात तुम जानते क्यू नही

बात नही करनी तो मत करो,
एक बार इधर देख तो लो,
तुम्हारे लिए बड़े प्यार से चाकलेट लाया हूँ,
अगर नही चाहिए तो इसे अपने हाथो से फ़ेक तो दो

एक बार यू हुआ कि फ़िर कभी बात ना हुई,
वो जो कहते थे कभी आज बात ना हुई

बात नही करनी तो बहाना बनाया ना करो,
जब हमसे मोहब्बत ही नही है तो,
यू झूठा बहाना बनाया ना करो

बात नही करनी तो मिलने क्यू आते हो,
मुझे देख कर तुम मौन क्यू हो जाते हो

बात नही करनी तो हमे बुलाया क्यू था,
नही पोछने आते आन्सु तो रुलाया क्यू था

तेरी दूरियो को मिटाऊ कैसे,
अपने प्यार का यकीन दिलाऊ कैसे,
छोटी सी बात पर तू रूठ गया,
बोल ना मै तुझे मनाऊ कैसे

कितना मुश्किल है उस शक्श को मनाना,
जो कभी रूठा भी न हो और बात भी ना करे

अकेले मे तुम्हारी याद आना अच्छा लगता है,
तुमसे रूठना तुमको मनाना अच्छा लगता है 

Baat Nahi Karne Ki Shayari

किताबो के पन्नों को पलट के सोचता हू,
कि यू पलट जाये मेरी जिंदगी तो बात क्या है,
ख्वाबो मे रोज मिलता है जो,
अगर हकीकत मे मिल जाये तो क्या बात है,
कुछ मतलब के लिए ढून्ढ्ते है मुझको,
बिना मतलब कोई आये तो क्या बात है

चुपके चुपके पहले वो ज़िन्दगी में आते हैं
मीठी मीठी बातों से दिल में उतर जाते है
बच के रहना इन हुसन वालों से यारो
इन की आग में कई आशिक जल जाते हैं|

नफ़रत हो जायेगी मुझे अपने ही किरदार से,
अगर मै तेरे ही अन्दाज़ मे तुझसे बात करू

जरूरी नही कि तु मेरी हर बात को समझे,
जरुरी ये है कि तु मुझे तो कुछ समझे

मोहब्बत का कोई कसुर ना था,
उसे तो मुझसे रूठना ही था,
दिल मेरा शीशा सा साफ़ था,
और शीशा का अन्जाम तो टुटना ही था. 

Baat Nahi Karne Ki Shayari

बर्बाद कर देती है मोहब्बत,
हर मोहब्बत करने वाले को,
क्योंकि इश्क़ हार नही मानता,
और दिल बात नहीं मानता

रूबरू होने की तो छोडिये लोग गुफ़्तगु से भी कतराने लगे हैं,
गुरुर ओढे है रिश्ते, अपनी हैसियत पर इतराने लगे हैं

बाते तो हर कोई समझ लेता है,
मगर हम वो चाहते हैं जो हमारी खामोशी को समझ सके

मत पूछो कैसे गुजरता है हर पल तुम्हारे बिना,
कभी बात करने की हसरत तो कभी देखने की है तमन्ना

जब अपना कोई साथ हो,
बाते सुनना भी अच्छा लगता है,
जब अपना ही जिक्र और बात हो 

आगे पढ़े : Zakhmi Dil Shayari : जख्मी दिल शायरी

Post a Comment

और नया पुराने