Sad Life Shayari Hindi

Sad Life Shayari Hindi, Sad Shayari For Life In Hindi, Best Shayari On Sad Life In Hindi With Images, Hindi sad life shayari, Sad Life Shayari, Sad Life Shayari in Hindi

Sad Life Shayari Hindi: हेलो मेरे प्यारे दोस्तों कैसे है आप ? इस पोस्ट में हम आपके लिए कुछ खास और बिंदास "Sad Life Shayari in Hindi" लाये है जिसे आप जरूर पसन्द करेंगे।ये सभी Sad Life Shayari को आप अपने दोस्तों के साथ फेसबुक और दूसरे सोशल साइट्स पर शेयर भी कर सकते है। यह भी पढ़िए : Zindagi Shayari in Hindi | ज़िन्दगी शायरी (Life Shayari)

Sad Life Shayari Hindi

Sad Life Shayari Hindi - Best Collection

मेरे दर्द को किसने देखा है
जिसने मुझे देखा मुझे देखा उसने हस्ते देखा है
अक्शर रोता है मेरे दिल
मेहफिल में लोगो ने बस हस्ते देखा है।

मिल भी जाते हैं तो कतरा के निकल जाते हैं,
हैं मौसम की तरह लोग... बदल जाते हैं,
हम अभी तक हैं गिरफ्तार-ए-मोहब्बत यारों,
ठोकरें खा के सुना था कि संभल जाते हैं।

एक नजर भी देखना गंवारा नहीं उसे,
जरा सा भी एहसास हमारा नहीं उसे,
वो साहिल से देखते रहे डूबना हमारा,
हम भी खुद्दार थे पुकारा नहीं उसे।

सोचा था तड़पायेंगे हम उन्हें,
किसी और का नाम लेके जलायेगें उन्हें,
फिर सोचा मैंने उन्हें तड़पाके दर्द मुझको ही होगा,
तो फिर भला किस तरह सताए हम उन्हें।

दिन हुआ है, तो रात भी होगी,
मत हो उदास, उससे कभी बात भी होगी।
वो प्यार है ही इतना प्यारा,
ज़िंदगी रही तो मुलाकात भी होगी।

वो बिछड़ के हमसे ये दूरियां कर गई,
न जाने क्यों ये मोहब्बत अधूरी कर गई,
अब हमे तन्हाइयां चुभती है तो क्या हुआ,
कम से कम उसकी सारी तमन्नाएं तो पूरी हो गई।

Sad Life Shayari Hindi - Best Collection

अब तो वफ़ा करने से मुकर जाता है दिल,
अब तो इश्क के नाम से डर जाता है दिल,
अब किसी दिलासे की जरूरत नही है,
क्योंकि अब हर दिलासे से भर गया है दिल।

इश्क की हमारे बस इतनी सी कहानी है,
तुम बिछड गए हम बिख़र गए,
तुम मिले नहीं और...
हम किसी और के हुए नही।

आज फिर याद आये,
तुम उन बीते लम्हों में।
आखिर वो लम्हे ही तो हैं,
जिन्हें हम अपना बना पाए।

कभी मौका मिला तो,
हम किस्मत से शिकायत जरुर करेंगे।
क्यों छोड़ जाते हैं, वो लोग,
जिन्हें हम टूट कर चाहते हैं।

पल-पल तरसे हम जिस पल के लिए।
वो पल भी आया जिंदगी में,
बस एक पल के लिए।

Sad Life Shayari Hindi

आती है जब याद तेरी तो,
तेरी यादों में हम खो जाते हैं।
आजकल तुझे सोचते-सोचते ही,
हम सो जाते हैं।

भले ही किसी गैर की जागीर थी वो।
पर मेरे ख्वाबों की भी तस्वीर थी वो।
मुझे मिलती तो कैसे मिलती?
किसी और के हिस्से की तकदीर थी वो।

कौन जाने कब मौत का पैगाम.
आ जाये जिंदगी की आखरी शाम आ जाये.
हमे इंतजार है उस शाम का जब.
हमारी जिंदगी किसी के काम आ जाये

आपनी आंखो के समुन्दर मे उतर जाने दे.
तेरा मुजरिम हूँ, डूब कर मर जाने दे.
जख्म कितना दिया है तेरी चाहत ने मुझको.
सोंचता हूँ कहूँ, मगर जाने दे.

बिना बताए ना जाने उसने क्यू दूरी कर दी.
बिछड़ कर उसने मोहब्बत ही अधूरी कर दी.
मेरे मुकदर मे गम आये तो क्या हुआ.
खुदा ने उसकी ख़्वाहिश तो जरूर पूरी कर दी.

वफ़ा करने से मुकर गया है दिल.
अब प्यार करने से डर गया है दिल.
अब किसी सहारे की बात मत करना.
झूठे दिलासों से भर गया है दिल.

Sad Life Shayari Hindi

मंजिल भी उसकी थी, रास्ता भी उसका था.
एक मै अकेला था बाकी काफिला भी उसका था.
साथ साथ चलने की सोच भी उसकी थी.
फिर रास्ता बदलने का फैसला भी उसका था.

चाँद उतारा था हमारे आगन पर तारो को ये गवारा
ना था कर तो देते तारो से बगावत पर.
क्या करे वो चाँद ही हमारा ना था.

जिंदगी के सफ़र में एक हमसफ़र की आस पर.
उस रहा में रहा नहीं था दिल जो था तेरे साथ.
पर जो तू मेरी मंजिल होता तो शायद.
छोड़ देती तुझे पर यु तेरा रास्ता बन कर सिने में.
बैठ जाना दर्द देता है मुझे.

कही मिले तो उसे यह कहना
गए दिनों को भुला रहा हूँ…
वह अपने वादे से फिर गया है
मैं अपने वादे निभा रहा हूँ…..

हक़ीक़त जान लो जुदा होने से पहले ,
मेरी सुन लो अपनी सुनाने से पहले ,
ये सोच लेना भुलाने से पहले ,
बहुत रोयी हैं ये आँखें मुस्कुराने से पहले।

सिलसिले की उम्मीद थी उनसे ,
वही फाँसले बढ़ाते गए ,
हम तो पास आने की कोशिश में थे।
ना जाने क्यों वह हमसे दूरियाँ बढ़ाते गए।

हमारे लिए उनके दिल में चाहत ना थी ,
किसी ख़ुशी में कोई दावत ना थी ,
हमने दिल उनके कदमों में रख दिया ,
पर उन्हें ज़मीन देखने की आदत ना थी।

काश वो समझते इस दिल की तड़प को ,
तो हमें यूँ रुसवा ना किया जाता ,
बेरुखी भी उनकी मंज़ूर थी हमें ,
एक बार बस हमें समझ लिया होता।

Sad Life Shayari Hindi

वफ़ा का दरिया कभी रुकता नही,
इश्क़ में प्रेमी कभी झुकता नही,
खामोश हैं हम किसी के खुशी के लिए,
ना सोचो के हमारा दिल दुःखता नहीं!

फुर्सत किसे है जख्मों को मरहम लगाने की,
निगाहें बदल जाती हैं अपने बेगाने की,
तुम भी छोड़ कर चले गए हमें,
अब तमन्ना न रही किसी से दिल लगाने की।

यह भी पढ़ें: -

Post a Comment

और नया पुराने