Zakhmi Dil Shayari : जख्मी दिल शायरी

Zakhmi Dil Shayari, Zakhmi Dil Shayari Image, Zakhmi Dil Shayari in Hindi, Best Zakhmi Dil Shayari Collection, जख्मी दिल शायरी

Zakhmi Dil Shayari: मेरे प्यारे दोस्तो, में आज आपके लिये zakhmi dil shayari लेकर आया हु अगर आपका भी दिल प्यार में टूट गया है तो ये शायरी आपको बहुत पसंद आएगी क्योंकि ये zakhmi dil वालो के लिए लिखी गई shayari है ये तो चलिए जानते है टूटे दिल की शायरी इन हिंदी.

Zakhmi Dil Shayari

जिन्दगी में अगर एक बार सच्ची मोहब्बत न हो तो जिन्दगी अधूरी लगती है। अगर हो जाए और दिल टूट जाए तो भी जिंदगी अधूरी ही लगती हैं। अगर इश्क़ में दिल टूट जाए तो उम्मीद नही हारनी चाहिए। आखिरी दम तक उसे पाने के लिए सही तरीके से कोशिश करनी चाहिए। सच्चे दिल से ढूढों तो खुदा मिल जाता है फिर इश्क़ की क्या औकात है। यह भी पढ़े : Bewafa Shayari in Hindi Images - HD Photos Download

Zakhmi Dil Shayari | टूटे दिल की शायरी

इस पोस्ट में बेहतरीन जख्मी दिल शायरी | Zakhmi Dil Shayari दिए हुए हैं। इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़े और दोस्तों के साथ शेयर करें। जरूर देखे: DP Shayari | Whatsapp DP Shayari | DP Shayari Images

कांच चुभे तोह ज़ख्म रहा जाते है
दिल टूटे तो अरमान रहा जाते है
लगा तोह देता है वक़्त मरहम इस दिल पर
फिर भी उम्र भर निशाँ रहा जाते है।

हमारी आँखों मई
आंसू न हो तो क्या हो
वह हम से खफा हो जाएँ तो क्या हो
हम दुनिया वळून से
चुप तो नहीं सकते
मगर अपने ही ज़ख्म दें तो क्या हो।

बगैर जाने पहचाने इक़रार न कीजिये
मुस्कुरा कर दिलों को बेक़रार न कीजिये
फूल भी दे जाते है
ज़ख्म गहरे कभी कभी
हर फूल पर यूँ ऐतबार ना कीजिये।

जब भी किसी को करीब पाया है
कसम खुदा की वहीँ धोखा खाया है।
क्यों दोष देते है
हम काँटों को ज़ख्म तो
हमने फूलों से पाया है।

 तेरी तरह मलाल अब मुझे भी नहीं रहा,
जा अब तेरा ख्याल मुझे भी नहीं रहा।

भरता ही नहीं ये जख्म मिला कैसा है,
मोहब्बत का मिला ये सिला कैसा है,
पल-पल सताती है उस बेवफा की याद
थमता ही नहीं ये सिलसिला कैसा है।

Zakhmi Dil Shayari

कोई रूठे तो उसे जल्दी मना लिया करो,
गुरुर की जुंग में अक्सर जुदाई जीत जाती है।

मेरे अपना मुझको कभी समझ नहीं सके,
रिश्तों में अहसास फिर पनप नहीं सके,
एक घर के अंदर भले हम संग-संग रहे,
मगर दिल की दूरियां सिमट नहीं सके।

वो रोये तो बहुत पर मुझसे मुँह मोड़ कर रोये,
कोई मजबूरी होगी जो दिल तोड़ कर रोये,
मेरे सामने कर दिए मेरी तस्वीर के टुकड़े,
पता चला मेरे पीछे वो उन्हें जोड़ कर रोये।

माना अभी जख्मी है दिल हमारा,
पर जख्म देकर खुश नहीं है दिल तुम्हारा।

वक़्त के इस मोड़ पर यह कैसा वक़्त आया है,
ज़ख्म इस दिल का जुबां पर आया है,
नहीं रोते थे हम काँटों की चुभन से
आज फूलो की चुभन ने हमें रुलाया है।

Zakhmi Dil Shayari
उल्फत का अक्सर यही दस्तूर होता है,
जिसे चाहो वही अपने से दूर होता है,
दिल टूटकर बिखरता है इस कदर,
जैसे कोई कांच का खिलौना चूर चूर होता है!

तेरी मुहब्बत पर मेरा हक तो नही
पर दिल चाहता है
आखरी सास तक तेरा इंतजार करू

दर्द है दिल में पर इसका एहसास नहीं होता;
रोता है दिल जब वो पास नहीं होता;
बर्बाद हो गए हम उसके प्यार में;
और वो कहते हैं इस तरह प्यार नहीं होता

उसके चले जाने के बाद..
हम महोबत नहीं करते किसी से..
छोटी सी जिन्दगी है..
किस किस को अजमाते रहेंगे

ज़िन्दगी तुझसे हर कदम पर समझौता क्यों करूँ,
शौक जीने का है मगर इतना भी नहीं.

टूटे हुए प्याले में जाम नहीं आता
इश्क़ में मरीज को आराम नहीं आता
ये बेवफा दिल तोड़ने से पहले ये सोच तो लिया होता
के टुटा हुआ दिल किसी के काम नहीं आता। 

Zakhmi Dil Shayari

रुलाया ना कर ऐ जिंदगी अब मुझे,
मुझे चुप करवाने वाला अब कोई नै रहा.

जब कोई चाहत नाकाम हो जाती है,
मंजिलों की जैसे फिर शाम हो जाती है,

हसरतें बिखरती हैं कुछ इस तरह अपनी,
जिंदगी ही दर्द का एक नाम हो जाती है !

सच्ची है मेरी मोहब्बत आजमा कर देख लो,
करके यकीन मुझ पर मेरे पास आकर देख लो,
बदलता नही सोना कभी अपना रंग
जितनी बार दिल करे आग लगा के देख लो.

प्यार वफ़ा सब कुछ मिटा दिया होता,
उसका नाम तक भुला दिया होता,
अगर तस्वीर उसकी दिल में न होती,
तो खुद को भी जला दिया होता !!

जिस के सीने में दर्द ठहरा हो
उस का रोना बहुत ज़रूरी है
उन से होनी हैं ख़्वाब में बातें
मेरा सोना बहुत ज़रूरी है .

तेरे रोने से उन्हें कोई
फ़र्क नहीं पड़ता ऐ दिल,
जिनके चाहने वाले ज्यादा हो
वो अक्सर बेदर्द हुआ करते है.

दो कदम तो सब साथ चल लेते है पर
जिन्दगी भर साथ कोई नहीं निभाता,
अगर रो कर भूली जाती यादें,
तो हँस कर कोई गम न छुपाता.

Zakhmi Dil Shayari

लोग कहते है मोहब्बत में हम मर जायेंगे,
राह कैसी भी हो हम गुज़र जायेंगे,
तुम सितम करके मोहब्बत को मिटा ना पाओगे
हम सितम सह कर भी तेरे दिल में उतर जायेंगे.

वक्त के इस मोड़ पर ये कैसा वक्त आया है,
ज़ख्म इस दिल का जुबां पर आया है,
नही रोते थे हम काँटों की चुभन से
आज फूलों की चुभन ने हमे रुलाया है.

यह शायरी देखे: Sad Hindi Shayari for Girlfriend

 Next Pages: 1 | 2 | 3 | 4 | 5

Post a Comment

और नया पुराने